Thursday, August 21, 2014

सच्चे हो तुम हाँ सच्चे हो

जो दिखते हो वो लगते नहीं,
जो लगते हो तुम हो तो नहीं !
ख्वाब हो तुम मेरे सपने हो,
सपने हो पर क्यूं अपने नहीं !!

सब झूठ है जो तुम कहते हो ,
जो कहते हो तुम वो तो नहीं !
झूठे हो तुम , हाँ झूठे हो ,
झूठे तो हो पर लगते नहीं !!

कुछ बात थे जो याद नहीं,
जो याद हैं वैसी बात नहीं !
सच्चे हो तुम हाँ सच्चे हो,
ख्वाबो में भी तो आते नहीं !!

No comments:

Post a Comment

Thanks for your valuable time.

There was an error in this gadget