Friday, May 7, 2010

भारत बंद का दुषप्रभाव‏

कभी भारत बंद कभी बिहार बंद, फिर परिणाम क्या होता है हम सब जानते हैं. ये विपक्षी नेतागण कभी सोचते हैं उन विद्यार्थियो के बारे में जिनका परीक्षा रद्द कर दिया जाता हैं बंदी के कारण. कभी सोचते है ये लोग कि भारत बंद के कारण. स्कूल , कॉलेज , अस्पताल , बैंक इन सब के बंद हो जाने से कैसा असर पड़्ता है हमारे समाज पर. यात्रा के दौरान परेशानी, दुकानो के बंद होने के कारण परेशानी, इन सब से क्या मतलब है उन्हे. ये सोचने कि बात है कि बंद के कारण क्या बितता है वैसे परिवार पे जो दिन भर मजदूरी करके उसी रुप्या से रात मे खाना खाता है. लेकिन हमारे नेतागण तो सिर्फ राजनिति के पाठ पढे होते है. उन्हे ये कौन बताये कि किसी भी समस्या का समाधान राज्य या देश को बंद करवा कर नही होता है. अपने मांगो को दुसरे ढंग से भी पुरा करवाया जा सकता है.

No comments:

Post a Comment

Thanks for your valuable time.

There was an error in this gadget